Blogging

Pogo Sticking and Bounce Rate me Kya Difference hai?

Pogo Sticking and Bounce Rate
Written by soniadumore

Subject :- Difference Between Pogo Sticking and Bounce Rate

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका मेरे ब्लॉग Information Guru में। यदि आपके ब्लॉगर है तो आज इस आर्टिकल में आपको बहुत ही आवश्यक जानकारी मिलेगी।

आज इस आर्टिकल में आप जानेंगे की Pogo Sticking and Bounce Rate क्या अंतर है ? दोस्तों आप भी Pogo Sticking and Bounce Rate में बहुत बार Confuse हुए होंगे, तो अब से यह Confusion नहीं होगी।

तो अंतर जानने के लिए आर्टिकल को अंत तक पढ़े और आनंद लें। चलिए शुरू करते है।

Friends, वैसे तो आपको Pogo Sticking and Bounce Rate दोनों की परिभाषा मालूम है, अर्थार्थ आप दोनों से वाकिफ है, लेकिन अंतर बताने के लिए मुझे फिर से एक बार दोहरान करना होगा।

Bounce Rate

यदि कोई User आपके Landing Page पर आता है और आपने अपने Landing Page पर बहुत सारे Links लगा रखें है जैसे- About Me, Articles, Social Links etc. फिर वह यूजर कुछ समय बाद बिना किसी दूसरे Page पर Click किये हुए, वापस चला जाता है उसे Bounce कहते है।

जब हम की भी चीज को प्रतिशत में मापते है तो हम Rate शब्द का प्रयोग करते है। मतलब कि जब सभी Users की Bounce Count करके प्रतिशत में निकालते है तो उसे Bounce Rate कहते है।

यह Bounce Rate की परिभाषा है। अब हम बात करते है Pogo Sticking की।

Pogo Sticking

Friends, जब हम Google में कोई Query करते है, तो हमारे सामने बहुत से Result Pages आते है। तब हम किसी Result Page पर Click करके उस Result को Visit करते है।

लेकिन जब आपको सही जानकारी नहीं मिल पाती जिसके लिए आप इस Page पर आये थे, उस परिस्थिति में आप उसी Page से वापस चले जाते है और दूसरे Results पर जाकर जानकारी खोजते है। तो उसे Pogo Sticking कहते है।

यह तो बात हुई दोनों परिभाषाओं की अब आपको बताती हूँ की अंतर क्या है ?

Pogo Sticking and Bounce Rate में अंतर

Friends, आप एक बार गौर से दोनों Definitions को फिर से पढ़ना मैंने Bounce Rate में कहीं भी Search Result की बात नहीं की।

मतलब, Pogo Sticking तभी मानी जाती है या होती है। जब Search Result से कोई User वापस जाता हो। यदि वह User Direct Link से आया है या Social Sharing से आया हो तब वह Bounce में Count होता है।

न की Pogo Sticking में।

दूसरा अंतर यह है कि Bounce Rate में यह अनुमान नहीं लगा सकते कि User हमारे Content जो आपने अपने Landing Page पर उपलब्ध करवाया हो या जिस Page पर User है, उससे Satisfied है या नहीं।

क्या पता जो जानकारी उसे चाहिए थी वो Use आपके Landing Page पर ही मिल गयी हो, तो वह अन्य किसी Page पर क्यों जायेगा।

लेकिन Pogo Sticking में हम Conform है कि User अपनी Query के लिए आपके Result को सही नहीं मानता, अर्थात वह आपके Result से Satisfied नहीं है।

निष्कर्ष :-

तो Friends, आज हमने जाना की Pogo Sticking and Bounce Rate में क्या अंतर है जिसके लिए हमने तो विशेष कारणों का प्रयोग किया। इसके अलावा भी इनमे बहुत से अंतर हो सकते है।

मैं आशा करती हूँ की मेरा यह प्रयास सफल रहा होगा। आपको Pogo Sticking and Bounce Rate के बीच अंतर समझ आ चूका होगा। आपको यह आर्टिकल कैसा लगा मुझे Comment करके जरूर बताएं।

अगर आपका कोई Question है या आप किसी दूसरे Topic पर आर्टिकल चाहते है तो कमेंट में बता सकते है या जिसके लिए आप Contact Form का भी उपयोग कर सकते है।

अगर आप ऐसी ही Blogging और Online Marketing संबंधी या Money Making tips को जानने में रूचि रखते है तो मेरे Blog की Bell को जरूर दबाएं।

Article को अंत तक पढ़ने के लिए दिल की गहराइयों से धन्यवाद…

About the author

soniadumore

Hii Friends I Am Sonia Dumore From Mumbai Founder of Information Guru. You Can Learn Blogging & Online Marketing And Read Money Making Tips Form My Blog. If You Want To Know More Info, then join my Telegram Group...

Leave a Comment